한국어 English 日本語 中文 Deutsch हिन्दी Tiếng Việt Português Русский Iniciar sesiónUnirse

Iniciar sesión

¡Bienvenidos!

Gracias por visitar la página web de la Iglesia de Dios Sociedad Misionera Mundial.

Puede entrar para acceder al Área Exclusiva para Miembros de la página web.
Iniciar sesión
ID
Password

¿Olvidó su contraseña? / Unirse

Corea

प्रधान पादरी किम जू चिअल ने यू एन सम्मेलन में भाग लेकर भाषण दिया

  • País | कोरिया
  • Fecha | Diciembre 13, 2016
ⓒ 2016 WATV

13 दिसंबर को प्रधान पादरी किम जू चिअल ने अमेरिका के न्यूयॉर्क में स्थित यू एन महासभा में भाषण देकर विश्व का ध्यान आकर्षित किया। उन्होंने अपने भाषण में कहा, “चर्च ऑफ गॉड माता के हृदय से यू एन के साथ ग्लोबल विलेज के सभी परिवारों की मदद करेगा।”

पादरी किम जू चिअल का भाषण केंद्रीय आपदा प्रतिक्रिया कोष(CERF) के उच्च स्तरीय सम्मेलन में दिया गया। केंद्रीय आपदा प्रतिक्रिया कोष की स्थापना प्राकृतिक और मानव निर्मित आपदाओं से प्रभावित लोगों की मानवीय आधार पर मदद करने के लिए की गई है। यह सम्मेलन यू एन के महासचिव बान की मून के उद्घाटन भाषण से शुरू हुआ, और यू एन के मानवीय मामलों के समन्वयक कार्यालय(OCHA) के प्रमुख स्टीफन ओ’ब्रायन ने इसका संचालन किया। इस सम्मेलन में यू एन के सदस्य देशों के प्रतिनिधियों, यू एन की संस्थानों, गैर सरकारी संगठनों(NGO), निधि–प्रतिष्ठानों और निजी संस्थाओं के प्रतिनिधियों समेत करीब 200 लोग उपस्थित थे।

पादरी किम जू चिअल को चर्च ऑफ गॉड के प्रतिनिधि के रूप में यू एन के द्वारा आमंत्रित किया गया था। इस सम्मेलन में उन्होंने संक्षेप में चर्च ऑफ गॉड का परिचय दिया जो पिता परमेश्वर और माता परमेश्वर पर विश्वास करता है और नई वाचा के सत्य को मानता है, और यह समझाया कि पूरे विश्व में चर्च ऑफ गॉड के द्वारा चलाई जा रही सब विभिन्न मानवीय गतिविधियों जैसे कि पर्यावरण सफाई अभियान, खाद्य वस्तुओं की आपूर्ति, आपात राहत कार्य आदि गतिविधियों का जन्म माता के हृदय से हुआ है, और ऐसे मन के साथ संकट में पड़े सभी देशों और पड़ोसियों की मदद करने वाले केंद्रीय आपदा प्रतिक्रिया कोष और यू एन की अन्य संस्थानों की सराहना करते हुए, उन्होंने उनका लगातार समर्थन और सहयोग करने की इच्छा जताई।

सम्मेलन में जिसमें सब देशों के प्रतिनिधि और यू एन की संस्थानों के प्रतिनिधि भाग लेते हैं, चर्च ऑफ गॉड के प्रतिनिधि को अभूतपूर्व रूप से आमंत्रित किए जाने के पीछे चर्च के राहत कार्य और स्वयंसेवा कार्य थे जो चर्च के सदस्यों के द्वारा निरंतर और व्यापक स्तर पर किए गए थे। चर्च ने 2010 में यू एन में हैती के भूकंप पीड़ितों की मदद के लिए राहत दान दिया था, और 2015 में नेपाल के बड़े भूकंप से क्षतिग्रस्त क्षेत्रों में और 2016 में हैती के तूफान मैथ्यू से क्षतिग्रस्त क्षेत्रों में बचाव और राहत कार्य किया थाऌ जब भी आपदा घटित होती थी, तो चर्च के सदस्य सक्रिय रूप से हाथ बंटाते थे। यू एन ने उनके प्रयासों को सराहा है। पिछले नवंबर में केंद्रीय आपदा प्रतिक्रिया कोष की प्रतिनिधि लिसा दौटन ने अमेरिका के डेनवर चर्च ऑफ गॉड के द्वारा आयोजित “हैती के तूफान पीड़ितों की मदद के लिए चैरिटी आर्केस्ट्रा कॉन्सर्ट” में वीडियो से बधाई संदेश भेजा और कहा कि, “मैं चर्च ऑफ गॉड को सच्चे मन से धन्यवाद देती हूं। आपने आपदा राहत कार्य जैसे स्वयंसेवा कार्यों के द्वारा लोगों को यह तथ्य बताने के लिए निरंतर प्रयास किया है कि देश, जाति, धर्म और सामाजिक स्थिति से परे दुनिया एक है और हम सब दोस्त हैं।”

सभी कार्यक्रम समाप्त करके कोरिया में वापस आए पादरी किम जू चिअल ने यह कहा कि, “दुनिया भर में चर्च ऑफ गॉड के सदस्य पिता परमेश्वर और माता परमेश्वर की अच्छी शिक्षाओं के अनुसार दयालु सामरी के रूप में सात अरब लोगों की मदद करने के लिए नए साल 2017 में और अधिक व्यस्त हो जाएंगे।”

ⓒ 2016 WATV

Vídeo de Presentación de la Iglesia
CLOSE