한국어 English 日本語 中文 Deutsch हिन्दी Tiếng Việt Português Русский Iniciar sesiónUnirse

Iniciar sesión

¡Bienvenidos!

Gracias por visitar la página web de la Iglesia de Dios Sociedad Misionera Mundial.

Puede entrar para acceder al Área Exclusiva para Miembros de la página web.
Iniciar sesión
ID
Password

¿Olvidó su contraseña? / Unirse

औरा समर्थकों ने कोरिया के गीजांग में आयोजित 2016 डब्ल्यूबीएससी महिला बेसबॉल वर्ल्ड कप के लिए समर्थन दिया

  • Realzando el Prestigio Nacional
  • País | Corea
  • Fecha | Septiembre 03, 2016
ⓒ 2016 WATV

चर्च ऑफ गॉड के औरा समर्थकों ने बड़े और छोटे राष्ट्रीय–अंतर्राष्ट्रीय स्पोर्ट्स खेलों का सभी दशाओं में समर्थन किया है, जैसे कि वर्ष 2002 बुसान एशियाई खेल और बुसान एशियाई–प्रशांत विकलांग खेल, वर्ष 2003 देगू ग्रीष्मकालीन यूनिवर्सियाद खेल इत्यादि। और वे एक बार फिर कोरिया के गीजांग में आयोजित 2016 महिला बेसबॉल वर्ल्ड कप की सफलता के लिए इकट्ठे हुए, जिसे विश्व बेसबॉल सॉफ्टबॉल परिसंघ[डब्ल्यूबीएससी] के द्वारा मंजूरी दी गई है।

महिला बेसबॉल वर्ल्ड कप एक अंतर्राष्ट्रीय टूर्नामेंट है जो हर दो वर्ष में आयोजित होता है। यह टूर्नामेंट वर्ष 2004 में कनाडा के एडमोंटन में पहली बार शुरू किया गया था, और इस वर्ष उसका सातवां आयोजन किया गया। जापान के साथ–साथ जिसने पांचवी बार चैंपियनशिप जीतने के लिए अपनी चुनौती पेश की, 12 देशों के करीब 500 बेसबॉल खिलाड़ियों और कर्मचारियों ने इस खेल में भाग लिया। चूंकि यह महिला बेसबॉल वर्ल्ड कप के इतिहास में सबसे बड़ा टुर्नामेंट था, इसलिए बेसबॉल की मंडली ने उम्मीद की कि यह महिला बेसबॉल के लिए जो अलोकप्रिय खेलों में से एक है, अपने आधार को बढ़ाने और लोगों का अधिक ध्यान खींचने का एक मौका बन जाएगा। इसी कारण से औरा समर्थकों से मदद मिलना अत्यावश्यक था।

बुसान के गीजांग–गुन के इलग्वांग–म्यन में स्थित गीजांग–हुंडई मोटर ड्रीम बॉलपार्क में 3 से 11 सितंबर तक यह वर्ल्ड कप आयोजित किया गया। औरा समर्थकों ने उद्घाटन समारोह से पहले, जबसे हर देश की टीम ने कोरिया में अपना कदम रखा, तबसे समर्थन करना शुरू किया। गिमहे हवाई अड्डे और बुसान बंदरगाह के आगमन कक्ष में सैकड़ों समर्थकों ने “वी लव यू” पुकारते हुए खिलाड़ियों का जोरदार स्वागत किया। सवेरे से लेकर देर रात तक सभी टीमों के आगमन का समय अलग–अलग था, लेकिन जब भी एक टीम आती थी, तब समर्थकों ने उज्ज्वल व खुशी–भरी मुस्कान के साथ उनका अभिवादन किया। बेसबॉल के खिलाड़ी जो तनाव भरे चेहरों के साथ कोरिया में प्रवेश कर रहे थे, उन्हें देखते ही मुस्कुराए और अपने हाथों को लहराते हुए अभिवादन किया।

ⓒ 2016 WATV

उद्घाटन समारोह के बाद, हर दिन लगभग औसत 500 औरा समर्थकों ने दो या तीन खेलों में खिलाड़ियों का हौसला बढ़ाया। यदि स्वागत और विदाई समारोह को कुल मिलाकर देखें, तो लगभग 9,000 समर्थकों ने खिलाड़ियों का समर्थन किया। कभी तेज बारिशभरी हवा तो कभी तेज धूप जैसे परिवर्तनशील मौसम के बावजूद, समर्थकों ने खिलाड़ियों के बॉलपार्क में प्रवेश करने के समय से लेकर खेल के अन्त तक हर टीम की भाषा में संशोधित किए गए जय–जयकार के गीत गाकर और गुब्बारों की छड़ी, पारंपरिक पंखों, चार–रंगों वाले छातों इत्यादि, विविध उपकरणों का इस्तेमाल करके खिलाड़ियों को प्रोत्साहित किया।

समर्थकों ने सिर्फ खेलों में खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करने पर ध्यान नहीं दिया। उनका समर्थन खेलों के बाहर भी जारी रहा। उन्होंने भारतीय खिलाड़ियों के लिए जिन्हें चोट लगने के कारण या फिर नए पर्यावरण के अनुकूल खुद को ढालने में मुश्किल हो रही थी, उनके स्वाद के अनुरूप भोजन और फल दिए, और समर्थकों ने स्टेडियम के एक कोने में एक तम्बू भी स्थापित किया और उनके लिए यादगार तस्वीरें छापीं। भारतीय बेसबॉल टीम की डॉक्टर अशीमा बेगम ने कहा, “किसी भी अंतर्राष्ट्रीय खेल में इस तरह से हमारा स्वागत नहीं किया गया था। जब हम भारत वापस जाएंगे, तब हम इसके बारे में बड़ाई करेंगे कि हमने कितना हार्दिक स्वागत और बड़ा स्नेह प्राप्त किया है।”

खिलाड़ी और कर्मचारी औरा समर्थकों से गहराई से प्रेरित हुए और उन्होंने अक्सर यह कहा कि यह उनके लिए पहली बार था। डब्ल्यूबीएससी के कार्यकारी निर्देशक माइकल श्मिट ने कहा, “यह देखना अद्भुत है कि वे सिर्फ अपनी राष्ट्रीय टीम का नहीं, लेकिन सभी टीमों का समर्थन करते हैं। मैं बहुत सी खेल प्रतियोगिताओं में गया हूं, लेकिन मैंने ऐसे समर्थकों को पहली बार देखा है।” जापान के कांटो क्षेत्र के महिला बेसबॉल संगठन के अध्यक्ष मिहषी आत्सुशी ने थम्स–अप का इशारा करके कहा, “मैंने ऐसा दृश्य पहली बार देखा है जहां प्रशंसक दल एक ही समय में दोनों टीमों को बड़े ही उत्साहवर्धक ढंग से प्रोत्साहित करता है। सभी खिलाड़ियों को बड़ी ताकत मिली होगी।” सेमीफाइनल में वेनेजुएला की टीम ने नौवीं पारी के दूसरे ओवर में हारती हुई बाजी पलटते हुए जीत हासिल की। वेनेजुएला की टीम की एक खिलाड़ी एनसी लोपेज ने अपनी आंखों में आंसू लिए कहा, “औरा समर्थकों ने ऐसे हमारा समर्थन किया जैसे हम उनके परिवार की हों। मैंने पहली बार ऐसे प्रोत्साहन का अनुभव किया है। उनके अनथक समर्थन के कारण हम जीत सके हैं।”

ⓒ 2016 WATV

11 तारीख को शाम करीब 6 बजे, जापान और कनाडा के बीच फाइनल मैच हुआ। क्यूबा, भारत आदि प्रत्येक देश के खिलाड़ियों ने औरा समर्थकों के साथ मिलकर खिलाड़ियों को प्रोत्साहित किया, जिससे बेसबॉल वर्ल्ड कप का सुंदर समापन हुआ। उस दिन बेसबॉल स्टेडियम में देश और भाषा की सीमा से परे एकता और मित्रता का समारोह हुआ।

फाइनल मैच में जापानी टीम जीत गई, और समापन समारोह के बाद रात 10 बजे तक औरा समर्थकों ने सभी बेसबॉल खिलाड़ियों को जिन्होंने अन्त तक जी–तोड़ प्रयास किया था, तालियों के साथ वाहवाही दी और जयजयकार किया। कोरिया के महिला बेसबॉल संगठन के अध्यक्ष जंग जिन–गु ने ताली बजाते हुए कहा, “महिला बेसबॉल की मंडली में औरा समर्थकों की बहुत चर्चा हो रही है। उन्होंने अपने देश की टीम की तरह दूसरे देशों की टीमों का समर्थन करते हुए बहुत असाधारण कार्य किया है।”

ⓒ 2016 WATV

जापानी टीम में सर्वोत्तम पिचर के पुरस्कार और एमवीपी पुरस्कार के विजेता साटो अयामी ने कहा, “मैंने अब तक लगातार चार बार अंतर्राष्ट्रीय खेलों में भाग लिया है, लेकिन मुझे विदेश में पहली बार इस तरह जोरदार और दिल को छूनेवाला प्रोत्साहन मिला है। उसी के कारण मैं अपना शानदार प्रदर्शन कर सकी।” बुसान के गीजांग–गुन में खेल प्रतियोगिता के प्रबंधन अधिकारी ने अपने आभार को यह कहते हुए व्यक्त किया, “पहले इस खेल प्रतियोगिता पर लोगों का कम ध्यान गया था, इसलिए हम बेहद चिंतित थे। मैं इस प्रतियोगिता की सफलता का सारा श्रेय औरा समर्थकों को देता हूं जिन्होंने विचारशीलता का सदाचार दिखाते हुए सिर्फ प्रशंसक दल नहीं, बल्कि गैरसरकारी राजनयिकों के रूप में बड़ी भूमिका निभाई है।”

समापन समारोह के अगले दिन से लेकर उसके अगले दिन तक समर्थकों ने अपने देश वापस लौटने वाले प्रत्येक टीम के खिलाड़ियों के विदाई समारोह में भाग लिया और फिर समर्थन का सारा कार्यक्रम समाप्त हुआ। सदस्यों ने जिन्होंने समर्थन में भाग लिया, यह कहा, “हमने यह आशा करते हुए उनका समर्थन किया कि सभी खिलाड़ी जो कोरिया आए हैं, वे अपने खेल के परिणाम की परवाह किए बिना अपने दिलों में सुखद यादें संजोकर वापस जाएं,” और फिर अपनी इच्छा व्यक्त की, “जहां कहीं हमारी मदद की जरूरत है, हम वहां जाने और मदद करने के लिए तैयार हैं।”
Vídeo de Presentación de la Iglesia
CLOSE